You are currently viewing Shri Khatu Shyam Ji ki Aarti | श्री खाटू श्याम जी की आरती

Shri Khatu Shyam Ji ki Aarti | श्री खाटू श्याम जी की आरती

कृपया शेयर करें -

श्री खाटू श्याम जी की आरती (Shri Khatu Shyam Ji ki Aarti) – श्री खाटू श्याम बाबा जिनको पूरी दुनिया में शीश के दानी के नाम से भी जाना जाता हैं और हारे का सहारा बाबा श्याम हमारा यानी जिसका कोई भी नहीं होता है उसका बाबा श्याम होता है। बाबा श्याम का मंदिर राजस्थान के सीकर ज़िले में स्थित हैं जहाँ प्रतिदिन लाखों भक्त देश-विदेश से बाबा के दर्शन करने आते हैं।

ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे।
खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

रतन जड़ित सिंहासन, सिर पर चंवर ढुरे।
तन केसरिया बागो, कुंडल श्रवण पड़े।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

गल पुष्पों की माला, सिर पार मुकुट धरे।
खेवत धूप अग्नि पर दीपक ज्योति जले।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

मोदक खीर चूरमा, सुवरण थाल भरे।
सेवक भोग लगावत, सेवा नित्य करे।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

झांझ कटोरा और घडियावल, शंख मृदंग घुरे।
भक्त आरती गावे, जय-जयकार करे।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

जो ध्यावे फल पावे, सब दुःख से उबरे।
सेवक जन निज मुख से, श्री श्याम-श्याम उचरे।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

श्री श्याम बिहारी जी की आरती, जो कोई नर गावे।
कहत भक्तजन, मनवांछित फल पावे।
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

जय श्री श्याम हरे, बाबा जी श्री श्याम हरे।
निज भक्तों के तुमने, पूरण काज करे
॥ ॐ जय श्री श्याम हरे..॥

अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर या कॉमेंट जरूर करें।
(कुल अवलोकन 319 , 1 आज के अवलोकन)
कृपया शेयर करें -